उत्तराखंड में जब पर्येटन स्थलों की बात आती है तो ऋषिकेश का नाम सबसे पहले मन में आता है। ऋषिकेश, उत्तराखंड के देहरादून ज़िले में स्थित है। पर्यटन स्थल और तीर्थस्थान होने के कारण सालभर यहाँ यात्रियों का आना जाना लगा रहता है। ऋषिकेश का महत्व इस वजह से भी बढ़ जाता है क्यूंकि यह चार धाम तीर्थयात्रा का शुरुआती बिंदु है। इसके अलावा यहाँ बहती हुई गंगा नदी, ऊँचे पहाड़, जंगल और शांत वातावरण लोगों को आकर्षित करता है। लोग दूर-दूर से गंगा तट पर होने वाली गंगा आरती का सुंदर दृश्य देखने भी आते हैं। यदि अगर आप भी ऋषिकेश घूमने का प्लान बना रहे हैं तो आइये आपको बताते हैं कि यहां घूमने लायक कौन-कौन से जगह हैं।

rishikesh tourist places name list in hindi

ऋषिकेश में घूमने की प्रमुख जगह

त्रिवेणी घाट

देश की सबसे पवित्र गंगा नदी पर ऋषिकेश का सबसे बड़ा घाट त्रिवेणी घाट स्थित है। यहाँ नियमित शाम के समय महा गंगा आरती का आयोजन किया जाता है। यह काफी प्राचीन घाट है, जिसका जिक्र महाकाव्य रामायण और महाभारत में भी किया गया है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस घाट के पास नदी में डुबकी लगाने से आपके सभी पाप धुल जाते हैं। आप यहाँ से प्राकृतिक दृश्यों का भी आनंद ले सकते हैं।

लक्ष्मण झूला

लक्ष्मण झूला ऋषिकेश के सबसे प्रसिद्ध स्थलों में से एक है। कहा जाता है कि इस स्थान की नदी को भागवान राम ने अपने छोटे भाई लक्ष्मण के साथ जूट की रस्सियों के सहारे पार किया था। बाद में ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान लक्ष्मण झूले का निर्माण किया गया। सन् 1889 में लोहे की मदद से इस पुल का निर्माण किया गया था, जोकि 1924 में आई बाढ़ में बह गया था। दोबारा लोगों के लिए इस पुल का निर्माण किया गया, लेकिन समय के साथ कमजोर हो जाने के कारण वर्ष 2020 में इसे बंद कर दिया गया। लेकिन पर्येटक इसके आस-पास स्थित राम व लक्ष्मण मंदिर के दर्शन कर सकते हैं। इस पुल को एक बार फिर से बनाया जा रहा है, जिसे कांच की मदद से बनाया जा रहा है। यह भारत का सबसे बड़ा ग्लास ब्रिज होगा, जिसे बजरंग सेतु के नाम से जाना जाएगा।

बीटल्स आश्रम

ऋषिकेश की चट्टान पर स्थित बीटल्स आश्रम भी काफी प्रसिद्ध है, इसे चौरासी कुटी के नाम से जाना जाता है। साल 1968 में इसी स्थान पर बीटल्स बैंड रुक कर ध्यान किया था। उन्होंने इस स्थान पर कई सारे गीत भी लिखे थे। यदि आपको प्राकृतिक नज़ारे देखना और शांत माहौल पसंद है तो आपको बीटल्स आश्रम जरूर जाना चाहिए। आश्रम परिसर में मंदिर, पुस्तकालय, रसोई, महर्षि योगी का घर व मेडिटेशन हेतु झोपड़ियां बनी हुई हैं।

तेरा मंजिल मंदिर

त्र्यंबकेश्वर मंदिर, जिसे तेरा मंजिल मंदिर भी कहा जाता है। यह ऋषिकेश के सबसे फेमस मंदिरों में से एक है। यह मंदिर गंगा नदी के तट पर स्थित है। 13 मंजिल और इसकी सुंदर वास्तुकला इस मंदिर को आकर्षक बनाती है। त्र्यंबकेश्वर मंदिर में आप एक साथ कई सारे देवी देवताओं के दर्शन कर सकते हैं। यदि आप ऋषिकेश जाएं तो इस मंदिर के दर्शन करने जरूर जाएं।

शिवपुरी

यदि आपको रोमांच और अलग-अलग तरह की एक्टिविटी करना पसंद है तो शिवपुरी जरूर घूमें। यहाँ पर आप रिवर राफ्टिंग का मज़ा ले सकते हैं, इसके अलावा बॉडी सर्फिंग, क्लिफ जंपिंग और रॉक क्लाइंबिंग जैसी एक्टिविटीज भी की जा सकती है। बीच कैम्पिंग, पर्वतारोहण, जंगल की सैर, और जंगल ट्रेकिंग भी यहाँ पर यात्रियों को करवाई जाती है। साथ ही शिवपुरी में आप घने जंगलों और पहाड़ी दृश्यों का भी मज़ा ले सकते हैं।

नीरगढ़ झरना

अगर आपको प्रकृति से अधिक लगाव है तो नीरगढ़ जलप्रपात के नज़ारे को देखने जरूर जावें। यह ठंडे पानी की एक सुंदर संकरी धारा है। नीरगढ़ जलप्रपात घने हरे जंगल के बीचों बीच एक चट्टानी इलाके में स्थित है। वॉटरफॉल जाने के लिए जंगल से होकर गुजरना पड़ता है। आपको करीब एक किलोमीटर की दूरी तय करनी होगी व एक चट्टान से नीचे उतरना पड़ेगा। इस दौरान आपको अलग-अलग वनस्पति और जीव देखने को मिलेंगे। इस स्थान से आप आसपास की घाटी के सुंदर दृश्यों को भी देख सकते हैं।

जंपिन हाइट्स

ऋषिकेश की यात्रा के दौरान आप जंपिन हाइट्स भी घूमने के लिए जाएं। यह लोगों के बीच काफी फेमस टूरिस्ट प्लेस है। इसकी उंचाई 83 मीटर है और यह भारत का सबसे ऊंचा बंजी जम्पिंग प्लेटफॉर्म है। बंजी जंपिंग के साथ ही यात्री यहाँ कई एडवेंचर स्पोर्ट्स पॉइंट में फ्लाइंग फॉक्स और जाइंट स्विंग का भी मज़ा ले सकते हैं।

कुंजापुरी मंदिर ट्रैकिंग

कुंजापुरी मंदिर भी ऋषिकेश के लोकप्रिय पर्येटन स्थलों में से एक है। यह प्राचीन मंदिर 1645 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इस मंदिर से आप हिमालय की छोटी से लेकर हरिद्वार और दून घाटी के नज़रों को देख सकते हैं। था टेम्पल ट्रेकिंग के लिए बहुत फेमस है। यह ऋषिकेश का मुख्य मंदिर व पर्येटन स्थल होने की वजह से सालभर यहाँ श्रधालुओं की भीड़ रहती है। नवरात्रों के समय यहाँ अधिक श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं।

ऋषिकेश ठहरने का स्थान व अन्य जानकारी

ठहरने के स्थान: गीता भवन आश्रम, परमार्थ निकेतन आश्रम, भारत हेरिटेज सर्विसेस

निकटतम हवाई अड्डा: यदि आप हवाई जहाज से ऋषिकेश की यात्रा करना चाहते हैं तो देहरादून का जॉली ग्रांट हवाई अड्डा रिकेश से सबसे करीब पड़ेगा। यह ऋषिकेश वे करीब 35 किलोमीटर की दूरी पर है।

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश में ही रेलवे स्टेशन है, इसलिए रेल से यात्रा करने वाले सीधा ऋषिकेश रेलवे स्टेशन उतर सकते हैं।

ऋषिकेश घूमने का सबसे अच्छा समय: वैसे तो आप सालभर में से कोई भी महीना ऋषिकेश घूमनेके लिए चुन सकते हैं, लेकिन अक्टूबर से मार्च महीने को सबसे अच्छा माना गया है।

ऋषिकेश में घूमने की जगहें: त्रिवेणी घाट, लक्ष्मण झूला और राम झूला, नीलकंठ महादेव मंदिर, वशिष्ठ गुफा, शिवपुरी, कुंजापुरा

ऋषिकेश में करने के लिए चीजें: राफ्टिंग, ट्रेकिंग, योग और मेडिटेशन, बंजी जंपिंग, माउंटेन बाइकिंग

ऋषिकेश क्यों प्रसिद्ध है: ऋषिकेश का प्राकृतिक सौंदर्य और गंगा नदी के किनारे पर स्थित होने के कारण यह पर्यटकों के बीच काफी फेमस है। यहाँ प्राचीन मंदिर, आश्रम और ध्यान केंद्र हैं।

घूमने की अवधि: ऋषिकेश घूमने के लिए आपको कम से कम 2 से 3 दिनों का समय चाहिए।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.